US Intelligence Group Divided On Coronavirus Origin Between Lab And Human Contact – लैब या संक्रमित जानवरों से फैला कोरोना? दो हिस्सों में बंटा अमेरिकी खुफिया समुदाय


लैब या संक्रमित जानवरों से फैला कोरोना? दो हिस्सों में बंटा अमेरिकी खुफिया समुदाय

माना जाता है कि कोरोना चीन के वुहान से फैला था. (फाइल फोटो)

खास बातें

  • कोरोनावायरस की उत्पत्ति पर सवाल
  • दो हिस्सों में बंटा US खुफिया समुदाय
  • चीन के वुहान से फैला था COVID-19!

वॉशिंगटन:

अमेरिकी खुफिया समुदाय ने गुरुवार को बताया कि कोरोनावायरस (Coronavirus) की उत्पत्ति को लेकर उसकी एजेंसियों की दो थ्योरी हैं. दो एजेंसियों का मानना ​​​​है कि वायरस स्वाभाविक रूप से संक्रमित जानवरों के साथ मानव संपर्क से उभरा है और तीसरा यह कि वायरस एक संभावित प्रयोगशाला से दुर्घटनावश सामने आया. ऑफिस ऑफ द डायरेक्टर ऑफ नेशनल इंटेलिजेंस (ODNI) ने एक बयान जारी करते हुए बताया कि वायरस की उत्पत्ति को लेकर खुफिया समुदाय दो भागों में बंटा हुआ है.

यह भी पढ़ें

इसमें कहा गया, ‘अमेरिका की इंटेलिजेंस कम्युनिटी को ठीक से यह नहीं पता है कि शुरुआत में COVID-19 वायरस कहां, कब या कैसे प्रसारित हुआ था, लेकिन यह लगभग दो संभावित परिदृश्यों में शामिल हो गया है.’ बयान में कहा गया कि ज्यादातर लोगों का मानना ​​है कि एक को दूसरे की तुलना में अधिक होने की संभावना का आकलन करने के लिए पर्याप्त जानकारी नहीं है.

अमेरिका की केंद्रीय जांच एजेंसी FBI और नेशनल सिक्योरिटी एजेंसी का हवाला देते हुए नेशनल इंटेलिजेंस फॉर स्ट्रेटेजिक कम्युनिकेशन की असिस्टेंट डायरेक्टर अमांडा स्कोच ने कहा कि वायरस की उत्पत्ति को लेकर फिलहाल पर्याप्त जानकारी नहीं है. इंटेलिजेंस कम्युनिटी का मानना है कि एक थ्योरी के दूसरे की तुलना में अधिक होने की संभावना का आकलन करने के लिए पर्याप्त जानकारी नहीं है.

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन (Joe Biden) ने बीते बुधवार को वायरस की उत्पत्ति का पता लगाने के लिए इंटेलिजेंस कम्युनिटी को प्रयासों को और तेज करने को कहा और कहा कि वे 90 दिनों के भीतर उन्हें रिपोर्ट सौंपे. बाइडन ने कहा, ‘उस रिपोर्ट के हिस्से के रूप में, मैंने चीन के लिए विशिष्ट प्रश्नों सहित आगे की जांच के लिए कहा है जिनकी जरूरत हो सकती है.’

राष्ट्रपति बाइडन के बयान के बाद चीन के अमेरिकी दूतावास ने कहा कि COVID-19 की उत्पत्ति का राजनीतिकरण करने से आगे की जांच में बाधा आएगी और महामारी पर अंकुश लगाने के वैश्विक प्रयास कमजोर होंगे. दूतावास ने इस मामले में कुछ राजनीतिक ताकतों के सियासी बयानबाजी करने और एक-दूसरे पर दोष मढ़ने की बात कही.

VIDEO: नहीं टला है कोरोना का खतरा, लापरवाही से बढ़ेगी मुश्किल

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Supply hyperlink

Back To Top
%d bloggers like this: